HealthHow to's

Dengue Reason, Symptoms And Natural Home Remedies

remedies-dengue

डेंगू बुखार के कारण, लक्षण, बचाव और घरेलू उपाय (Dengue Reason, Symptoms And Natural Home Remedies)

जिंदगी में एक ना एक बार सबको बुखार होता है चाहे सामान्य बुखार हो या भारी बुखार. बच्चों से लेकर बूढ़े तक सभी इसकी चपेट में आ सकते है. बुखार का शाब्दिक अर्थ है “शरीर का तापमान सामान्य से अधिक होना”. सामान्य बुखार को घर पर ही घरेलू उपायों के द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है लेकिन अगर बुखार हद से ज्यादा बढ़ जाए तो यह जानलेवा भी हो सकता है.
ऐसी स्थिति में शरीर में कई सारे परिवर्तन होने लगते है जैसे ब्लड काउंट, प्लेटलेट काउंट, लीवर अथवा दिमाग पर असर आदि. शरीर के अंग अपना कार्य सही से नहीं कर पाते है जो की जीवन के लिए घातक सिद्द हो सकता है. बुखार के कई कारण हो सकते है जैसे मौसम बदलना, संक्रमण, वायरस आदि.

ऐसे ही बुखार के कई प्रकार है जैसे सामान्य बुखार, मलेरिया (Malaria), डेंगू (Dengue), चिकनगुनिया (Chikanguniya) आदि. आज हम जिस बुखार के बारे में बात करेंगे उसका नाम है डेंगू (Dengue). यह अपने आप में एक खतरनाक बुखार है जिसका समय पर इलाज नहीं करने से यह जानलेवा तक हो सकता है. आईये जानते है डेंगू (Dengue) के कारण, लक्षण, बचाव और घरेलू उपाय (Home Remedies) के बारे में.

डेंगू बुखार कैसे फैलता है?
डेंगू (Dengue) एडीज इज्प्टी मच्छरों के काटने से होता है. यह प्राय: उष्ण कटिबन्धीय क्षेत्र तथा अफ्रीका में पाए जाते है. यह मच्छर दिन में काटता है. यह शहरी क्षेत्र में अधिक फैलता है. डेंगू (Dengue) बुखार ज्यादातर सिंगापूर, भारत, ब्राजील, ताइवान, फिलिपिन्स आदि देशों में अधिक फैलता है.
डेंगू (Dengue) बुखार हवा, पानी, साथ खाने या छुने से नहीं फैलता है. जब किसी व्यक्ति को एडीज इज्पटी मच्छर काट लेता है तो उसे डेंगू हो जाता है और जब वही मच्छर किसी स्वस्थ आदमी को काटता है तो उसे भी डेंगू (Dengue) हो जाता है, क्योंकि वह वायरस उसमे चला जाता है.

डेंगू बुखार के कारण

  • इस बुखार का सबसे बड़ा कारण है मच्छर एडीज इज्पटी मच्छर.
  • घर के आसपास गंदगी जमा होना, क्योंकि यह मच्छर गंदगी में ज्यादा पनपते है.
  • संक्रमित पानी और भोजन का सेवन.

डेंगू बुखार के लक्षण Symptoms Of Dengue

  • अचानक से तेज बुखार
  • भयंकर सिर दर्द
  • जोड़ो और मांसपेशियों में दर्द
  • शरीर पर लाल चकत्ते पड़ना
  • पेट दर्द और पेट का खराब रहना
  • दस्त लगना
  • ज्यादा पसीना आना
  • चक्कर आना
  • शरीर में कमजोरी आना
  • भूख ना लगना

अगर डेंगू (Dengue) गंभीर स्थिति में पहुँच जाता है तो आँख और नाक से खून भी निकल सकता है और ऐसी स्थिति बहुत जानलेवा होती है. इसलिए समय रहते डॉक्टर को दिखाएँ और अच्छे से इलाज करवाएं.

डेंगू बुखार के दौरान अपनाएं यह घरेलू उपाय Home Remedies Of Dengue
हमने डेंगू (Dengue) के लक्षण, कारण आदि के बारे में जान लिया है. अब हम जानते है कुछ घरेलू उपायों के बारे में जो डेंगू (Dengue) के दौरान आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सके.

1. पानी (Water)
बुखार के दौरान ज्यादा पसीना आने से शरीर में डीहायड्रेशन का खतरा बढ़ जाता है जिससे पानी पीने से दूर किया जा सकता है. ज्यादा पानी पीने से डेंगू (Dengue) बुखार के दौरान भयंकर सिर दर्द और मांसपेशियों की एंठन से राहत मिलती है. साथ ही पानी से शरीर की गंदगी यानी टाक्सीन बाहर निकलता है.
2. संतरे का रस
इसमें विटामीन C और कई एंटीओक्सिडेंट पाए जाते है. संतरे का रस पीने से मूत्र द्वारा टाक्सीन बाहर निकल जाते है. इसके अलावा आप अदरक का रस, आंवले का रस, नारियल पानी, अनार का रस आदि भी ले सकते है.
3. तुलसी (Basil)
तुलसी की चाय पीने से बुखार में आराम मिलता है. तुलसी चबाने से प्रतिरोधी तन्त्र को मजबूती मिलती है.
4. मेथी (Fenugreek)
मेथी की पत्तियाँ बुखार को कम करने के लिए जानी जाती है. इससे नींद भी अच्छी आती है और दर्द भी कम होता है. मेथी के पाउडर को पानी में घोल कर पीया जा सकता है.
5. नीम की पत्तियाँ
नीम की पत्तियों का काढ़ा प्लेटलेट काउंट बढाने और सफ़ेद रक्त कण बढाने में सहायक होता है, क्योंकि डेंगू (Dengue) बुखार के दौरान मरीज को सफ़ेद खून चढ़ता है.
6. हल्दी (Turmeric)
हल्दी में एंटी इन्फलेमेटरी, एंटीओक्सिडेंट, एंटी वायरल, एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटी कैंसर जैसे 6 पोषक तत्व पाए जाते है. इन गुणों के कारण ही हल्दी डेंगू (Dengue) बुखार में दर्द कम करने, वायरस को तेजी से नष्ट करने और रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढाने में मदद करती है.
7. पपीते की पत्तियाँ (Papaya Leaves)
इसमें विटामीन C पाया जाता है जो शरीर से टाक्सीन बाहर निकालता है. इसमें पाए जाने वाले न्युट्रीएंस प्लेटलेट काउंट को बढाने में मदद करते है. पपीते की पत्तियों को पीसकर इसका रस निकाला जाता है फिर इसे कपड़े से छानकर रोगी को पिलाया जाता है.
8. फल, सब्जी आदि का रस या सूप (Fruit, Vegetable And Sup)
इनमे अधिक मात्रा में मिनरल्स और एंटीओक्सिडेंट्स होते है जो शरीर से टाक्सीन बाहर निकालते है और शरीर को डीहायड्रेड होने से बचाते है तथा प्रतिरोधी तन्त्र को मजबूत करते है.

डेंगू बुखार से बचाव के उपाय Dengue Prevention Tips

  • रोगी को संतुलित आहार और पानी का सेवन करना चाहिए.
  • रोगी को आराम करना चाहिए.
  • नियमित रूप से प्लेटलेट काउंट की जांच करवानी चाहिए.
  • नियमित व्यायाम और योग करना चाहिए.

नोट :- हम किसी भी चीज को जस्टिफाई नहीं करते है. एक बार आपको डॉक्टर को जरुर दिखाना चाहिए और हर चीज का सेवन डॉक्टर से पूछकर ही करना चाहिए. यह सारी चीजें आपके फायदे के लिए है लेकिन फिर भी डॉक्टर से सलाह लेना बहुत जरुरी है, इसलिए कैसी भी स्थिति में एक बार डॉक्टर से सम्पर्क जरुर करें.

Comment here