NationalSports

Why MS Dhoni is out of the cricket ?

MS Dhoni out of the cricket

इन दिनों क्यों क्रिकेट से दूर हैं महेंद्र सिंह धोनी ?

टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने के बावजूद हाल के समय तक भारत के वनडे और टी20 टीम के अहम खिलाड़ी माने
जाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पिछले कुछ समय से मैदान से बाहर ही दिख रहे हैं। भारतीय टीम इस समय
ऑस्ट्रेलिया के लंबे दौरे पर गयी हुई है। वहां भी सीरीज़ के शुरुआती T20 मुकाबले में धोनी खेलते नज़र नही आए थे।

इस तरह धोनी के क्रिकेट से दूर होने पर कुछ लोगों के मन में सवाल आ सकता है की आखिर इतने बड़े खिलाड़ी किस
वजह से मैदान से दूर हैं! अगर आपके मन में भी ऐसे विचार आ रहे हैं तो इसका जवाब इस लेख में मिल जाएगा।

दरअसल धोनी के मैदान से दूर होने की सबसे बड़ी वजह पिछले दो T20 सीरिज़ में धोनी का नही चुना जाना है। टीम के
चयनकर्ताओं ने हाल ही में कड़ा फैसला लेते हुए धोनी का चयन T20 में नही किया था। धोनी के टीम में न चुने के पीछे
की वजह चयनकर्ताओं ने धोनी के हालिया प्रदर्शन को बताया था।

बता दें की धोनी को हाल ही में भारतीय दौरे पर आई वेस्टइंडीज टीम के खिलाफ खेली गयी तीन T20 मैचों के लिए
चुनी गयी टीम का हिस्सा नही बनाया गया था। शुरू में कयास लगाए जा रहे थे की धोनी को T20 से आराम दिया गया
है। लेकिन बाद में भारतीय टीम के चयनकर्ताओं ने इस बात साफ कर दिया था की धोनी को चुना ही नही गया है।

टीम अधिकारियों ने इस फैसले पर बात करते हुए कहा था की धोनी के प्रदर्शन को देखते हुए चयनकर्ताओं ने अन्य
विकेटकीपर को मौका देने का फैसला किया है। इनके स्थान पर ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक को टीम से जोड़ा गया
था। फिलहाल ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में खेल रहे हैं। धोनी के नही चुने जाने के बाबत पूछे
जाने पर चयनकर्ताओं ने यह भी साफ कर दिया था की धोनी का टी20 में नही चुना गया है, इसका मतलब यह नही है
की उनका टी20 क्रिकेट समाप्त हो गया है। उन्हें फिर से मौका मिल सकता है।

धोनी के 2018 के प्रदर्शन की बात करें तो बता दें कि धोनी के लिए साल 2018 की शुरूआत कुल मिला का शानदार रही
थी। 2018 के आईपीएल से पहले धोनी थोड़ा संघर्ष करते देखे गए थे। इनकी जम कर आलोचना की जा रही थी।
लेकिन धोनी ने सारी आलोचनाओं का जवाब 2018 आईपीएल में अपने बल्ले से लाजवाब तरीके से दिया था। धोनी के
लिए आईपीएल 2018 बल्लेबाज़ी के लिहाज़ से इनके अब तक के आईपीएल जीवन का सब से बेहतरीन साल साबित
हुआ था।

धोनी ने आईपीएल 2018 में कुल 16 मैच खेले थे। इन 16 मैच में 9 पारियों में नाबाद रहते हुए धोनी ने 150.66 के
स्ट्राइक रेट और 75.83 की बेहतरीन औसत से कुल 455 रन बनाए थे। जिसमें तीन बेहतरीन अर्धशतक शामिल था।
इस दौरान इनका सर्वाधिक स्कोर 79* रन रहा था। इससे पहले धोनी का सबसे अच्छा आईपीएल सीज़न 2013 का
था। उस साल इंहोने 18 मैच में 461 रन बनाए थे।

भारत की ओर से 93 T20 मैच खेलते हुए धोनी ने अबतक 37.17 की औसत से 1487 रन बनाए हैं। इनमें दो
अर्धशतकीय पारी शामिल है। धोनी के 2017 और 2018 में अंतराष्ट्रीय T20 क्रिकेट में किए प्रदर्शन पर नज़र डालें तो
2017 में धोनी ने 13 T20 की 12 पारियों में 42 की औसत से 252 रन बनाए थे। जिसमें एक 56 रन की अर्धशतकीय
पारी थी। यह इनके अंतराष्ट्रीय T20 कैरियर का पहला पचासा भी था।

2018 आईपीएल में धूम मचाने वाले धोनी के 2018 में ही खेले अंतराष्ट्रीय T20 मुकाबले पर नज़र डालें तो धोनी ने
इस साल अब तक 7 T20 मुकाबले खेले हैं। इन 7 मैच में इनके बल्ले से 41 की औसत से 123 रन आए हैं। इसमें 52
रन एक ही मैच से आए थे। T20 में प्रदर्शन के लिहाज़ से धोनी के लिए साल 2012 सबसे अच्छा बिता था। तब धोनी के
बल्ले से 14 मैच की 12 पारियों में 53.60 की बेहतरीन औसत से 268 रन आए थे।

T20 से बाहर होने के बावजूद धोनी वनडे क्रिकेट में अब भी टीम के अहम हिस्सा हैं। 332 वनडे की 281 पारियों में
खेलते हुए 10173 रन बना चुके धोनी से एक बार फिर बेहतरीन वापसी करने की उम्मिद होगी। धोनी के T20 में न चुने
जाने की ले कर और इनकी वापसी को ले कर आप क्या सोचते हैं, कमेंट में ज़रूर बताएं। यह भी बताएं की धोनी को
T20 टीम में न चुनने का फैसल आपके हिसाब से कैसा था।

Comment here